मधुबनी में इस जगह दशकों से बेरोकटोक चल रहा शराब एवं जिस्मफरोशी का काला धंधा

मधुबनी:- शहर के रेलवे स्टेशन से कुछ ही दूरी पर स्थित मालगोदाम चौक पर शराब और जिस्मफरोशी का काला कारोबार बेरोकटोक दशकों से चलता आ रहा है। यहां ना तो शराबबंदी कानून का कोई असर दिखता है और ना ही देह व्यापार पर रोक का। यहां शराब एवं जिस्मफरोशी का धंधा दशकों से बदस्तूर जारी है। रेलवे की जमीन पर मालगोदाम चौक पर पिछले कई वर्षों से शराब और देह:- व्यापार का धंधा पुलिस-प्रशासन की नाक के नीचे चलता रहा है। माल गोदाम चौक पर रेलवे की अतिक्रमित जमीन पर बने करीब एक दर्जन झोपडिय़ां इन धंधों में लिप्त लोगों का अड्डा बना हुआ है। इनके इर्दगिर्द दिनभर शराबियों, असामाजिक तत्वों, अपराधियों का जमावड़ा लगा रहता है। इस चौक पर प्राइवेट बस स्टैंड, मैक्सी स्टैंड, ऑटो स्टैंड होने से लोगों की आवाजाही बनी रहतीहै। सुबह से ही शराब और देह व्यापार का बाजार यहां गर्म होने लगता है, जो रात भर बदस्तूर जारी रहता है।जिस्मफरोशी के कारण दशकोंं से बदनाम लालटेनपट्टी:- लालटेनपट्टी के नाम से बदनाम मालगोदाम चौक तकरीबन तीन दशक से देह व्यापार के अलावा अन्य अवैध धंधों के लिए बदनाम रहा है। यह आज भी फल-फूल रहा है। इस चौक पर शराबबंदी से पूर्व भी अवैध तरीके से शराब की बिक्री के अलावा अन्य अवैध धंधे होते रहे हैं। यहां बाहर से भी जिस्म का धंधा करने वाली आती रहतीं हैं। इधर, शराबबंदी के बाद शराब के धंधेबाजों के लिए यह स्थल वरदान साबित हो रहा है। यहां की झुग्गी-झोपड़ी में रहने वाले झोपड़ी से सटे रेलवे के तालाब में शराब को छुपाकर रखते हैं। इसके खरीदार आने पर तालाब से निकालकर खरीदारों के सामने परोसा जाता है। इस जगह पर पान-मसाला, गुटखा की बिक्री खुलेआम हो रही है। लेकिन, इन सब अवैध कार्यों को रोकने के लिए पुलिस की ओर से असरदार एवं प्रभावी कार्रवाई नहीं की जाती है। आरपीएफ द्वारा भी इस दिशा में किसी तरह की कार्रवाई नहीं कर रही है।   हालांकि, बीते जनवरी में मधुबनी रेलवे स्टेशन के आसपास रेलवे की ओर से अतिक्रमण हटाने के दौरान इन झुग्गी-झोपडिय़ों को हटाया गया था। मगर, कुछ दिन बाद ही सभी झुग्गी-झोपडिय़ां फिर से नजर आने लगे।जानकारों की मानें तो इन झुग्गी-झोपडिय़ों में शराब के साथ अवैध धंधा करने वालों को स्थानीय पुलिस के अलावा आरपीएफ का संरक्षण प्राप्त होने के कारण इन पर कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। अपराधियों एवं असामाजिक तत्वों का भी लगा रहता जमावड़ा:-शराब, शबाब एवं कबाब का बेरोकटोक धंधा होने से यहां असामाजिक तत्वों एवं अपराधियों का जमघट लगा रहता है। जिस कारण इस चौक के आसपास आपराधिक घटनाएं होने की हमेशा आशंका बनी रहती है। इस चोक के आसपास अक्सर छिनतई की भी घटनाएं होती रहती है। संभ्रांत लोगों में यहां की स्थिति से नाराजगी है। इस संबंध में नगर थानाध्यक्ष धर्मपाल का कहना है कि मालगोदाम चौक पर शराब और देह व्यापार की शिकायत मिलने पर इसकी जांच कर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। जरूरत पडऩे पर औचक छापेमारी कर इसमें संलिप्त लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जायेगी।

Live Cricket

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Don`t copy text!
Close
Close