SSP का आया कॉल, Hello…! आप ठीक हैं ना, घर का हाल बताएं, …और पुलिसकर्मी हो गए गदगद

भागलपुर:- कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर सभी के लिए चुनौती के रूप में सामने मुंह फाड़े खड़ी है।कोरोना वारियर्स की अग्रिम पंक्ति में खड़े पुलिसकर्मी भी अछूते नहीं हैं। 24 घंटे फ्रंटलाइन पर खड़े होकर सरकार की गाइडलाइंस का अनुपालन कराना पुलिसकर्मियों की ही जिम्मेदारी है। पुलिसकर्मी उन लोगों की मदद को भी बढ़चढ़ कर जुट हुए हैं, जो विपदा की इस घड़ी में खतरनाक वायरस से भिन्न-भिन्न रूपों से जूझ रहे हैं। ऐसे में पुलिसकर्मियों पर भी कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरे के बीच उनका मनोबल बढ़ाने को एसएसपी निताशा गुड़िया उन्हें फोन कर पूछतीं हलो आप ठीक है ना, घर का हाल बताएं… सबी ठीक हैं वहां…। एसएसपी  उनके स्वास्थ्य को लेकर चिंतित हैं। पुलिसकर्मियों को शारीरिक ही नहीं बल्कि मानसिक रूप से भी कोरोना वायरस से मुकाबले के लिए तैयार रखने की भी जिम्मेदारी है। उनकी हौसलाफजाई के लिए स्वयं भी रोज उनका कुशलक्षेम पूछ रही हैं। कोरोना से डटकर मुकाबले के लिए एसएसपी ने नई व्यवस्था शुरू करते हुए कोविड सेल के बाद एक नियंत्रण कक्ष बना दिया है। जहां से 12 घंटे में दो बार पुलिस केंद्र और थानों में तैनात पुलिसकर्मियों की भी सुध ली जा रही है। कोविड सेल के नियंत्रण कक्ष में तैनात पुलिस पदाधिकारी सुबह और शाम जिले के सभी थानाध्यक्ष से संपर्क कर रहे हैं। उनसे पूछते हैं कि संबंधित थाने में तैनात सभी पुलिसकर्मी स्वस्थ्य हैं। यदि कोई पुलिसकर्मी या उनके स्वजन किसी भी जिले में बीमार अथवा परेशानी में हैं तो उनकी मदद की जाएगी। एसएसपी ने कहा कि हमारे जवान और पदाधिकारी अपने परिवार से अलग संक्रमण काल में सेवा दे रहे हैं। हमारी भी जिम्मेदारी बनती है कि उनकी और उनके स्वजन किसी परेशानी में हो तो उन्हें तत्काल मदद पहुंचाया जाए। कोरोना काल में उनका परिवार चाहे जिस जिले या कस्बे में हों,उन्हें तत्काल मदद पहुंचाई जाएगी। उन्हें किसी भी सूरत में अकेला नहीं छोड़ा जाएगा। इसके लिए कई टीम भी गठित की गई है ताकि किसी विषम परिस्थितियों में तुरंत रिस्पांस मिल सके। एसएसपी स्वयं भी अचानक जिले के किसी इलाके में पहुंच पुलिसकर्मियों का कुशलक्षेम पूछ उन्हें किसी किस्म की परेशानी तो नहीं है, यह पूछना भी नहीं भूलती। कोविड सेल प्रभारी रामप्रीत पासवान समेत वहां तैनात पदाधिकारी सेवा देने वाले पुलिसकर्मियों और पदाधिकारियों को जरूरत पड़ने पर जरूरी सामान भी मुहैया करा रहे हैं। भागलपुर एसएसपी निताशा गुड़िया ने बताया कि कोरोना काल में किसी भी परिस्थितियों से निपटने के लिए केवल शारीरिक ही नहीं बल्कि मानसिक शक्ति भी जरूरी है। हमारे जवान और पदाधिकारी अपने दायित्व को बखूबी निभा रहे हैं। आपदा के इस कठिन दौर में भी वह लोगों के बीच रहकर उनके साथ कदमताल मिला कर चल रहे हैं। कोविड सेल में तैनात पदाधिकारी 24 घंटे सेवारत पुलिसकर्मियों का न केवल कुशल क्षेम पूछ रहा है बल्कि उन्हें जरूरी सामान भी मुहैया करा रहा है।

Live Cricket

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Don`t copy text!
Close
Close