वेंटिलेटर रोकने को लेकर होगा यही पर आंदोलन

अररिया:- यूं तो वेंटिलेटर एक जीवन रक्षक यंत्र है, इससे कईयों की जानें बचाई जा सकती है, अगर समय पर रोगियों को वेंटिलेटर मशीन पर रखी जाए। इस हिसाब से भी वेंटिलेटर एक महत्वपूर्ण मशीन है। जिसे जिले के एकमात्र सदर अस्पताल अररिया में वेंटिलेटर आया तो है, लेकिन इसे चलाने के लिए तकनीशियन ही नहीं है। यह बिंन देश का राजा वाली कहावत को चरितार्थ करती है। यही रोना अररिया जिले के लोग सुबह शाम रोते हैं, और फिर रोते रोते सो जाते हैं। लेकिन यहां के इमानदार जनप्रतिनिधि अभी भी जिंदा है, उनकी जमीर जिंदा है, जो इस बात को लेकर हमेशा ज्वलंत मुद्दों में शुमार करते हैं और समाज के लोगों को आईना दिखाने में कार्य करते हैं। यहां की गरीब जनता का क्या वह तो भगवान भरोसे है। इस बाबत युवा शक्ति के जिला अध्यक्ष अनीश उर्फ लड्डू, युवा शक्ति के प्रदेश अध्यक्ष प्रिंस विक्टर ने शनिवार को आयोजित हुए एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि यहां के पत्रकार सदर अस्पताल में पड़े वेंटिलेटर की बात को लेकर जब प्रभारी जिला पदाधिकारी से भी इस संबंध में फोन से बात करना चाहते हैं तो प्रभारी जिला पदाधिकारी फोन को भी रिसीव करना मुनासिब नहीं समझते हैं। वहीं सदर अस्पताल के मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी पहले भी अपनी मजबूरी बता चुके हैं और अपनी हाथ खड़ा कर चुके हैं। रही बात जिले की जनता की, वह तो भगवान भरोसे वेंटिलेटर पर हैं। युवा शक्ति के प्रदेश अध्यक्ष प्रिंस विक्टर ने कहा कि अगर सदर अस्पताल में वेंटिलेटर सही हालात में संचालित रहती तो रानीगंज विधानसभा के जदयू विधायक अचमित ऋषि देव की पत्नी की जान वेंटिलेटर के अभाव में नहीं जाती। जब सरकार के विधायक का यह हाल है ,तो आम जनता का क्या हाल हो रहा होगा, यह लोगों को आसानी से समझ में आ जाएगी।   वहीं इस बाबत अररिया का मुद्दा जैसे संगठन के पदाधिकारियों तथा फैसला जावेद ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर बताया कि अररिया से वेन्टीलेटर वापस जाने की बात को लेकर आम जनों में काफ़ी आक्रोश है, इस सम्बंध में अररिया के बुद्धजीवियों ने एक ऑनलाइन बैठक रखी, जिसमें वेन्टीलेटर को अररिया में ही रोक कर उसे चालू करवाने हेतू आन्दोलन करने की बात कही गई। मीटिंग के उपरांत फैसल जावेद यासीन ने एक वीडियो संदेश जारी कर कहा के वेंटिलेटर अररिया सदर अस्पताल की संपत्ति है और जनता की है, जिसे किसी भी हालत में दूसरे जगह नहीं जानी चाहिए। इस वर्चुअल बैठक में डॉक्टर शफक मतीन, राशिद अनवर, डॉक्टर शादाब आलम, याजदान मिर्जा, नाजिश हलिम, धीरज किंग, सुभाष साह, शादाब आलम न वैज्ञानिक डॉक्टर शफिक मतीन, सामाजिक कार्यकर्ता राशिद अनवर, डॉक्टर शादाब आलम, याजदान मिर्जा, नाजिश हलिम, धीरज किंग, सुभाष साह, शादाब आलम ने प्रमुखता से अपनी बात रखी। अंत में उन्होंने कहा कि वेंटिलेटर रोक कर अररिया में ही शुरू करने को लेकर होगा आन्दोलन।

Live Cricket

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Don`t copy text!
Close
Close