जरूरतमंदों की सहायता करना व राहत पहुचाना इस्लाम का मूल उद्देश्य

गीबत से बचें तथा अच्छे व नेक काम करें

अररिया(जोकीहाट):- ऑर्फन इन नीड्स तंजीम ने आमलोगों से आग्रह किया कि जारी लॉकडाउन में घर में ही इबादत करे। बगैर जरूरत के घर से बाहर ना निकले। सरकार द्वारा जारी गाइडलाइंस के अनुसार ही काम करें। मस्जिदों के मुतवल्री और इमाम परेशान हाल लोगों की मदद करें। जहां तक हो सके सामर्थ्य लोग, समाज के मोहताज, यतीम, गरीब गुरबों की मदद करें। उक्त बातें बुधवार को ऑर्फन इन नीड्स तंजीम के द्वारा भेजे गए रिलीफ को अररिया जिले के काकन व बलवा गांव के लगभग 530 जरूरतमंद लोगों खासकर यतीम, बेवाओं व मोहताज महिलाओं के बीच परिवार फ़ूड किट्स का वितरण किया गया। इससे पहले भी 22 मई को सैदपुर करांकिया में 500 परिवारों के बीच फ़ूड किड्स का वितरण किया गया था। इस मौके पर मौलाना कासिम नूरी कासमी ने कहा कि दुनिया और प्यारा भारत के लिए यह एक मुश्किल समय है कि आदमी, आदमी को छू ले तो संक्रमित हो जाएगा। इस बीमारी का कोई इलाज नहीं है। इस बीमारी का वाहिद इलाज मास्क पहनना व सामाजिक दूरी बना कर अपने समाज, देश और दुनिया की रक्षा कर सकते हैं, ये विचार बुधवार को आयोजित ऑर्फन इन नीड्स तंजीम के द्वारा गरीब व मोहताज लोगों के बीच फ़ूड किड्स वितरण करने के दौरान उक्त तंजीम के सदस्य मौलाना कासिम नूरी कासमी ने कही। उन्होंने आगे कहा कि सरकार द्वारा जारी गाइडलाइंस का हर आदमी शत प्रतिशत पालन करें ताकि कोरोना का घातक प्रकोप न फैल सके। मौलाना नूरी कासमी ने कहा कि पाक साफ रहना इस्लाम में आधा ईमान है। इसलिए जहां तक हो सके हर दिन अपने को पाक साफ रक्खे और कपड़े हर दिन चेंज कर पहनें और आसपास गंदगी को भी नहीं फैलावें। हमेशा अपने परिवार के बुजुर्ग व पड़ोसियों का ख्याल रखें। मौलाना नूरी कासमी ने आगे कहा कि जरूरतमंदों की सहायता करना, राहत पहुचाना इस्लाम का मूल उद्देश्य है। उन्होंने कहा कि सबसे खराब स्थिति दैनिक मजदूरों के लिए है, जिनके पास जीवन जीने के लिए कुछ भी नही है, उन का मदद किया जाना बेहद जरूरी है। मौलाना कासिम नूरी साहब ने कहा कि आवश्यकता पड़ने पर आपदा के समय और भी इस तंजीम के द्वारा आर्थिक मदद किया जाएगा, इसके लिए सभी लोगों से खाता व आधार कार्ड लिया गया है, ताकि वक्त पर इनके खाते में कुछ आर्थिक मदद के रूप में राशि हस्तांतरित की जासके। कार्यक्रम का आगाज हाफिज मोहम्मद एजाज के द्वारा तिलावते कलाम पाक से हुआ और मोहम्मद अयान नूरी ने नात पाक गाकर लोगों को दिली सुकून दिलाया। मौलाना कासिम नूरी कासमी ने वितरण करने के दौरान पत्रकारों से कहा कि यह तंजीम दुनिया के 15 से 20 मुल्कों में काम कर रही है और देश के हर राज्य में हर तरह के कल्याण कार्य कर रहा है। यह तंजीम जो सेवा दे रही है, यह सिर्फ अल्लाह के रेजा व खुशनोदी के लिए है। उन्होंने कहा कि अपने बच्चों को तालीम दें, जहां तक हो सके नमाज का पाबंद रहें और जो इस काम को कर रहे हैं, उनके लिए दुआएं खेर भी करें। उन्होंने कहा कि इस तंजीम के चेयरमैन शेख मोहम्मद अनीस मूसा व इस तंजीम के निदेशक नजमुस साकिब खान साहब के लिए खास दुआएं करें कि वे लंबी उम्र जीए और हमेशा सेहतमंद रहे ताकि वे लोग इसी तरह लोगों की सेवा करते रहे।  इस मौके पर मौलाना कासिम नूरी कासमी के अलावे हाफिज मोहम्मद हाशिम, कारी जवाद साहब, हाफिज जाकिर साहब, हाफिज अकील भाई, महफूज साहब, भाई ताजुद्दीन, मोहम्मद अयान नूरी, हाफिज मोहम्मद एजाज, वार्ड सदस्य मोहम्मद शमीम, मुफ्ती उमैर साहब, डॉक्टर जव्वाड़, डॉ मो अजमल, आदि लोग उपस्थित थे। फूड किट्स के बारे में मौलाना ने पत्रकारों को बताया कि इस फ़ूड किड्स में 20 केजी चावल, 10 केजी आटा, 2 केजी मसूर दाल, 2 केजी चना, 2 केजी चीनी, आधा केजी चाय पत्ती, टूथपेस्ट, बरस, नहाने का साबुन 4, धोने का साबुन 4 सर्फ, मिर्ची मसाला धनिया नमक इत्यादि शामिल है।

Live Cricket

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Don`t copy text!
Close
Close