अनलॉक होने के बाद भी बिना कारण घर से बाहर न निकलें, बाजारों में बेवजह भीड़ न लगने दें

लॉकडाउन में मिली है छूट, लेकिन संक्रमण की संभावना अब भी प्रबल, घर से बाहर निकलते समय मास्क जरूर लगाएं और शारीरिक दूरी का करें पालन

आरा:- राज्य सरकार ने लोगों की परेशानियों व संक्रमण के आंशिक प्रसार को देखते हुए अनलॉक के निर्देश दिए हैं। लेकिन, सरकार ने आगामी दिनों में संक्रमण की संभावना को देखते हुए कोविड-19 के सामान्य नियमों का पालन करने की अपील की है। ऐसे में हमें भी सख्ती के साथ विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओ) के द्वारा जारी किये गये सामान्य नियमों का सख्ती से पालन करना होगा। जिससे हम स्वयं के साथ-साथ अपने परिजनों को सुरक्षित कर सकेंगे। ऐसे में स्वास्थ्य समिति ने जिलेवासियों से मास्क पहनने व घर से बाहर निकलने के बाद दूसरों से उचित शारीरिक दूरी बनाकर रखने की अपील की। सिविल सर्जन डॉ. ललितेश्वर प्रसाद झा ने कहा, लॉकडाउन लागू होने के बाद संक्रमण का प्रसार काफी कम हो गया था। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि लॉकडाउन के कारण लोग बिना कारण घरों में ही रहें और बाजार व दुकाने बंद होने से उक्त स्थानों पर अनावश्यक भीड़ जमा नहीं हुई। जिसकी बदौलत कोरोना वायरस का प्रसार नहीं हो सका। इसलिए अनलॉक होने के बाद भी सभी को नियमों का पालन करना अनिवार्य है। वहीं, 45 वर्ष या उससे अधिक उम्र के जिन लोगों ने अब तक कोरोना का टीका नहीं लिया है, वह अपने नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर जाकर टीका अवश्य लें। लापरवाही लोगों के लिए खतरा उत्पन्न कर सकती है:-सिविल सर्जन ने बताया, जिले में फिलहाल कोरोना वायरस के संक्रमण का प्रसार कम हुआ है, लेकिन खतरा कम नहीं हुआ है। लोगों की जरा सी लापरवाही उनके लिए खतरा उत्पन्न कर सकती है। ऐसे में लोगों की सोच और सामाजिक व्यवहार में परिवर्तन आवश्यक है। कोरोना वायरस से ख़ुद को सुरक्षित रखने का सबसे महत्वपूर्ण उपाय है कि साफ-सफाई का ध्यान रखना। लोग अपने हाथों को समय-समय पर साबुन और पानी से धोएं। साथ ही, अल्कोहॉल बेस्ड सैनिटाइज़र का इस्तेमाल करें। लोग अपनी आंखों को छूने से बचें, नाक और मुंह पर भी हाथ लगाने से बचना होगा।   घर से बाहर निकलते समय बिना मास्क या फेसकवर के न निकले। बाजारों या यात्री वाहनों में भी शारीरिक दूरी बनाकर रहें। दुकानदारों व ग्राहकों को भी करना होगा नियमों का पालन:-बाजार व दुकानों में संक्रमण की संभावना बहुत अधिक होती है। दुकानों में सामने आने वाले इंसान के बारे में पता नहीं होता है कि वह कहां से आया है, किससे मिल कर आया है और वह संक्रमित है या नहीं? ऐसी स्थिति में काम करना और संक्रमण से बचना दोनों ही जरूरी है। इसलिए, दुकानदारों व सेल्समैन भी मास्क पहने और दूसरों को इसके लिए प्रेरित करें। उन्हें इस बात का भी ध्यान रखना होगा कि वे बार-बार मास्क न छूएं, ग्राहक से दूरी बनाकर रहें। वहीं, जितनी बार ग्राहक जाएं उसके बाद काउंटर टेबल को सेनिटाइज करें। जहां तक संभव हो ग्राहकों को ऑनलाइन पेमेंट करने की सलाह दें। हाथ से पैसे का लेनदेन में भी वायरस ट्रांसफर हो सकता है और पैसे देने वाले ग्राहक अगर संक्रमित होगा, तो उससे भी वायरस आ सकता है।

Live Cricket

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Don`t copy text!
Close
Close