अवनीश ने अपनाया कड़ा रुख, कहा कार्य में लापरवाही नहीं करेंगे बर्दाश्त

डीएम ने समीक्षा बैठक के जरिए स्वास्थ्य विभाग की गतिविधियों को परखा, दिए कई निर्देश

जमुई:-जिला कलेक्टर अवनीश कुमार सिंह की अध्यक्षता में समाहरणालय स्थित कार्यालय प्रकोष्ठ में स्वास्थ्य विभाग की मासिक समीक्षा बैठक आहूत की गई। डीएम ने मौके पर स्वास्थ्य विभाग के गतिविधियों की विन्दुवार समीक्षा की और कई जरूरी निर्देश दिए।
जिलाधिकारी ने सदर अस्पताल को प्राण रक्षक गृह की संज्ञा देते हुए कहा कि यहां उपलब्ध व्यवस्थाओं को और बेहतर किए जाने की जरूरत है। एम्बुलेंस की उपलब्धता के साथ रोगियों और उनके रखवालों को त्वरित और वांछित सेवा मुहैया कराएं। इसके लिए विधि सम्मत ढंग से एक नियंत्रण कक्ष की स्थापना किया जाना चाहिए। सदर अस्पताल में खराब पड़े मॉनिटर को दुरुस्त करते हुए आवश्यकतानुसार नया मॉनिटर की खरीदारी करें ताकि अल्प समय में बेहतर सेवा समर्पित किया जा सके। सही अनुसंधान के लिए पैथलॉजी को हमेशा अद्यतन रखने के साथ यहां बेहतर सेवा के लिए अतिरिक्त एलटी प्रतिनियुक्त करें। जेनरिक दवा दुकान को हमेशा खुला रखें ताकि जरूरतमंद रोगियों को अतिरिक्त कठिनाई का सामना करना नहीं पड़े। सदर अस्पताल तक यातायात को सुगम बनाने के लिए इसके इर्द – गिर्द 50 मीटर क्षेत्र को अतिक्रमण से मुक्त करना अनिवार्य है।   डीएम ने अस्पताल उपाधीक्षक को निदेशित करते हुए कहा कि चिकित्सा के लिए आए मरीजों को पंजीयन के समय एक खास कार्ड उपलब्ध कराएं , जिससे उन्हें हॉस्पिटल में उपलब्ध दवा , एम्बुलेंस , पैथलॉजी , निःशुल्क भोजन आदि की सुविधा आसानी से हासिल हो सके। उन्होंने उपाधीक्षक को बायोमैट्रिक उपस्थिति प्रणाली का अक्षरशः अनुपालन सुनिश्चित कराए जाने का निर्देश देते हुए कहा कि तय समय पर वार्ड का भ्रमण करें और रोस्टर के मुताबिक चिकित्सकों एवं स्वास्थ्यकर्मियों की नियमित उपस्थिति का जायजा लें। यहां मरीजों की सुविधा के लिए व्हील चेयर , ट्रॉली , आपातकालीन पंजीकरण आदि की उपलब्धता को भी परखें और वांछित दायित्व का निर्वहन करें। समाहर्त्ता ने जिला कार्यक्रम प्रबंधक को खास निर्देश देते हुए कहा कि मीडिया कर्मियों को सदर अस्पताल में उपलब्ध सुविधा , चिकित्सकीय प्रबंध आदि की पुख्ता जानकारी देने के लिए योग्य पदाधिकारी अथवा कर्मी को नामित करें ताकि संवाद के आदान – प्रदान में सहूलियत हो सके और आमजन मौजूद विन्दुओं से रूबरू हो सकें। जिलाधीश ने कड़ा रुख अपनाते हुए कहा कि कार्य में लापरवाही बर्दाश्त नहीं करेंगे। समय पर सेवा भाव से दायित्वों का निर्वहन करें और जमुई के निवासियों को बेहतर चिकित्सकीय सहायता उपलब्ध कराने में सकारात्मक भूमिका निभाएं। डीडीसी शशि शेखर चौधरी ने इस अवसर पर कहा कि सदर अस्पताल में हेल्प डेस्क का गठन किया जाना चाहिए। उन्होंने इसके जरिए आगंतुकों को वांछित जानकारी उपलब्ध कराए जाने की बात बताते हुए कहा कि जिला प्रशासन नागरिकों को बेहतर चिकित्सकीय सुविधा उपलब्ध कराने के लिए कटिबद्ध है। एडीएम सत्येंद्र कुमार मिश्र , अस्पताल उपाधीक्षक डॉ. एस. एन. अहमद , डीपीएम सुधांशु लाल , अस्पताल प्रबंधक रमेश पांडे समेत जिला स्वास्थ्य समिति से सम्बंधित जनों ने बैठक में हिस्सा लिया और जिलाधिकारी के निर्देशों को आत्मसात कर उसे धरा पर उतारे जाने का संकल्प व्यक्त किया।

Live Cricket

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Don`t copy text!
Close
Close